Metaverse Kya Hai? | मेटावर्स के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

क्या आप जानते हैं, हाल ही में कुछ दिनों पहले फेसबुक कंपनी ने अपना नाम चेंज कर लिया है, और फेसबुक की जगह अपनी कंपनी का नाम “Metaverse” कर दिया है, क्या आप लोग जानते हैं,  मेटावर्स का मतलब क्या है, शायद आप में से बहुत से लोगों को Metaverse का मतलब नहीं पता होगा तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आज का आर्टिकल उन्हीं लोगों के लिए है, जिन लोगों को मेटावर्स का मतलब नहीं पता आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि “Metaverse Kya Hai” और इसका मतलब क्या है।

आज के आर्टिकल में मेटावर्स के बारे में पूरी डिटेल से चर्चा करेंगे, क्योंकि अगर हम किसी भी विषय पर जानकारी लें तो उसकी हमें पूरी जानकारी होनी जरूरी है। अधूरी जानकारी का तो हमें कोई भी फायदा नहीं होता इसलिए आर्टिकल में हमने मेटावर्स के बारे में ए टू जेड पॉइंट्स को कवर करने की कोशिश की है, तो चलिए दोस्तों अब हम समझते हैं कि मेटावर्स क्या है, और मेटावर्स कैसे काम करता है?

Metaverse क्या है? (Metaverse in Hindi)

Metaverse Kya hai
  • Save
Metaverse Kya hai?

Metaverse एक प्रकार से वर्चुअल दुनिया है यानी कि आभासी दुनिया, आभासी दुनिया का मतलब समझे तो जैसे कि आज के समय में हम वीडियो कॉल पर बात करते हैं तो हमें ऐसा महसूस होता है कि सामने वाला हमारे पास ही है, लेकिन वीडियो कॉल में हम सिर्फ उस व्यक्ति से बात कर सकते हैं। लेकिन मेटेवर्स के अंदर हम दुनिया के अंदर किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति का अनुभव ले सकते हैं, कि वह हमारे पास ही है और बिल्कुल ऐसा ही लगता है कि हम आमने-सामने बैठ कर बात कर रहे हैं।

देखा जाए तो Metaverse एक इंटरनेट की दुनिया है, लेकिन यह असली दुनिया से अलग नहीं होगी बिल्कुल इससे मिलती-जुलती होगी। इसे एक एडवांस टेक्नोलॉजी से तैयार किया जाएगा जिससे आने वाले समय में एक ऐसी दुनिया बनाई जा सके जिससे कि हम पूरी दुनिया से जुड़े रहे और किसी भी चीज का अनुभव हम घर बैठे ले सकें।

जैसे कि अगर हमारे दोस्त कहीं बाहर पार्टी कर रहे हैं तो हम घर बैठे उस पार्टी का अनुभव ले सकते हैं, और हमें बिल्कुल ऐसा लगेगा कि हम भी उसी पार्टी के अंदर ही हैं, और Metaverse का एहसास एक बहुत बढ़िया एहसास होने वाला है, क्योंकि इसके अंदर हमें जिस भी चीज का एहसास होगा हमें उस चीज का एहसास एक प्रकार से हमारी असली जिंदगी की तरह ही लगेगा और  Metaverse से हो सकता है आने वाले समय में हमारी जिंदगी और भी आसान हो जाए।

Metaverse का अर्थ क्या है (Metaverse Meaning in Hindi)

Metaverse शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है, ‘Meta’ और ‘verse’ यहां पर ‘Meta’ का मतलब है की ‘से परे’ और ‘verse’ का मतलब ‘ब्रह्मांड’ तो दोस्तों metaverse का मतलब है की ‘दुनिया से परे’ यानी कि एक ऐसा संसार जिसे सबकी सोच से अलग बनाया गया है। जिसे आज तक किसी ने सोचा भी नहीं होगा और असल जिंदगी में देखा जाए तो Metaverse एक ऐसा ही संसार है, जिसे आज तक किसी ने नहीं सोचा कि कुछ ऐसा भी हो सकता है।

यह एक ऐसी दुनिया होगी जिसे हम घर में रहकर पूरे संसार का आनंद उठा सकते हैं। आप घर या किसी एक स्थान पर रहते हुए भी अपने दोस्तों या फिर अपने परिवार के संग रहने का आनंद उठा सकते हैं, क्योंकि इसे कुछ इस प्रकार से डिजाइन किया गया है की इसके अंदर हमें बिल्कुल ऐसा एहसास दिलाया जाएगा कि जैसे हमारा दोस्त या परिवार वाला हमारे सामने ही बैठा है।

Metaverse शब्द की उत्पत्ति कब और किसने की?

Metaverse शब्द की उत्पत्ति सबसे पहले 1992 में की गई थी, Metaverse शब्द की उत्पत्ति करने वाले एक साइंटिस्ट थे और साइंटिस्ट होने के साथ-साथ वह एक राइटर भी थे। उन साइंटिस्ट का नाम Neal Stephenson है। Metaverse शब्द का जिक्र सबसे पहले इन्होंने अपनी एक बुक के अंदर किया था और  Metaverse शब्द का सबसे पहले प्रयोग उसी टाइम हुआ था।

लेकिन 1992 के समय में जब इस शब्द का प्रयोग किया गया तब मात्र यह एक कल्पना के रूप में था लोग इसे बसे सोच सकते थे, कि Metaverse कुछ ऐसा होगा लेकिन दोस्तों आपको बता दूं कि आज के समय में साइंस ने इतनी तरक्की कर ली है, कि आने वाले कुछ समय में इस तकनीकी को भी लांच किया जाएगा और हम वर्चुअल जिंदगी का मजा इस तकनीकी में उठा पाएंगे।

Metaverse से हमारी जिंदगी पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

जब हमारी जिंदगी में मेटावर्स आएगा तो हमें हमारी जिंदगी में बहुत ज्यादा बदलाव देखने को मिलेंगे क्योंकि मेटावर्स एक आभासी दुनिया है। और आभासी दुनिया में तो आप समझ सकते हैं कुछ भी हो सकता है, आज के टाइम में जहां पर हम हमारे रिश्तेदार संबंधी या फिर दोस्तों से वीडियो कॉल पर बात करते हैं, लेकिन मेटावर्स आने के बाद उसी चीज में हमें एक अलग आनंद मिलेगा क्योंकि हमें ऐसा एहसास होगा कि हमारा दोस्त हमारे पास ही बैठा है।

मेटावर्स आने के बाद जो लोग अपने सपने पूरे नहीं कर पाते थे, वह लोग अपने सपने पूरे कर पाएंगे जिनके पास बाहर जाने के लिए पैसे नहीं थे तो वे मेटावर्स की मदद से यह सब काम कर पाएंगे। अपने घर में बैठ कर या फिर जो बाहर घूमने के योग्य नहीं है वह भी अपने घर में बैठे हुए पूरी दुनिया घूम पाएंगे।

अगर हमारी जिंदगी में मेटावर्स आ जाता है तो जो काम हम हमारी रियल जिंदगी में नहीं कर पाते थे वह हम वर्चुअल दुनिया में जाकर कर पाएंगे। जैसे हम हमारे दोस्त कि अगर कोई पार्टी है तो उसे घर बैठे-बैठे देख सकते हैं, और उसके अंदर होने का मजा ले सकते हैं। अपने मनपसंद के कपड़े भी पहन सकते हैं, और जो काम हम असल जिंदगी में करते हैं वो सब कुछ इसके अंदर कर सकते हैं।

मेटावर्स कैसे काम करेगा?

मेटावर्स एक ऐसी तकनीक है जो हमें एक ऐसी दुनिया की तरफ ले जायेगा जो की एक वर्चुअल दुनिया होगी। यह कुछ इस इस प्रकार से काम करेगा की अंदर हमें रियल दुनिया का एहसास होगा और हमें इसके अंदर 3D एनीमेशन के द्वारा इस रियल दुनिया का एहसास कराया जाएगा। जो भी एनिमेशन होंगे वे बिल्कुल रियल होंगे, और इसके अंदर पूरी दुनिया को ही वर्चुअल तरीके से दिखाया जायेगा तो कुछ इस प्रकार से मेटावर्स काम करेगा।

Metaverse के फायदे क्या है?

दोस्तों जब भी साइंस के द्वारा कोई नई तकनीकी लॉन्च की जाती है, तो उसके दो पहलू निकल कर आते हैं, पहला कि उसमें हमें कुछ फायदा देखने को मिलता है और दूसरा नई तकनीक से हमें कुछ ना कुछ नुकसान भी जरूर होता है। तो Metaverse से भी हमें कुछ फायदे होने वाले हैं और कुछ नुकसान भी होने वाले हैं। चलिए देखते हैं की पहले हमे मीटेवर्स से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं।

  1. दोस्तों जब पहले के टाइम इंटरनेट आया था तब लोग बहुत ज्यादा खुश हो गए थे और वीडियो कॉल पर बात करके और भी ज्यादा खुश हो जाते थे। लेकिन जब  मेटावर्स आएगा तो इसके अंदर हम वर्चुअल वर्ल्ड में किसी भी व्यक्ति को सामने देख पाएंगे और उसे छू भी पाएंगे तो इससे हमें हमारे परिवार वालों से दूर होने का एहसास कभी नहीं होगा।
  2. आज के टाइम में ज्यादातर लोग विदेश जाना पसंद करते हैं, और विदेश जाने के बाद वह लोग बहुत दिनों तक अपने घर नहीं आते और इस कारण से उनके घर वाले बहुत परेशान होते हैं। लेकिन जब मेटावर्स आएगा तो हम वर्चुअल वर्ल्ड के अंदर एक दूसरे से कनेक्ट हो पाएंगे और ऐसा एहसास कर पाएंगे कि हम एक साथ हैं।

तो देखा जाए तो एक प्रकार से मेटावर्स आने वाले समय में हमारे लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होने वाला है।

Metaverse के नुकसान क्या है?

जिस प्रकार से मैंने आपको ऊपर बताया कि साइंस द्वारा लांच किए हुए हर तकनीक के दो पहलू होते हैं और उनमें से पहले पहलू के बारे में तो हमने बात कर ली। अब देखते हैं कि दुसरे पहलू से हमें क्या क्या नुकसान हो सकते हैं। आप सोच रहे होंगे कि मेटावर्स से हमें क्या नुकसान होगा तो दोस्तों इसके अंदर भी आपको नुकसान हो सकता है, तो चलिए देखते हैं कि इससे हमें क्या नुकसान हो सकता।

  1. मेटावर्स के अंदर हमारा पर्सनल डाटा कंपनी के पास चला जाएगा क्योंकि मेटावर्स को हमारे दिमाग में जो भी चल रहा है, उन सभी चीजों के बारे में पता होगा इस कारण से हमारी पर्सनल डिटेल भी कंपनी के पास चली जाएगी।
  2. दोस्तों आज के टाइम में जिस प्रकार से हम सोशल मीडिया साइटों पर अपना समय बिताते हैं और उन पर फोटो अपलोड करते रहते हैं या फिर कुछ वीडियो अपलोड करते रहते हैं, लेकिन उन पर हमारी पर्सनल वीडियो या फोटो अपलोड नहीं करते लेकिन मेटावर्स के अंदर तो हमारी पूरी डिटेल नहीं बल्कि हम खुद उसके हिस्से होंगे।

तो इस प्रकार से हमें आने वाले समय में मेटावर्स से कुछ नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं।

मेटावर्स दिखने में कैसा रहेगा (Metaverse Look)

ऊपर आपने देख लिया कि मेटावर्स क्या है और मेटावर्स को जानने के बाद आपके मन में एक सवाल और एक ही इच्छा जरूर जागी होगी कि आखिर यह मेटावर्स दिखने में कैसा होगा तो चलिए आपको बताते हैं कि मेटावर्स आखिर दिखने में किस प्रकार का होगा।

  • अवतार

मेटावार्स के दिखने की बात की जाए तो इसके अंदर अवतार का एक महत्वपूर्ण उदाहरण है, अवतार का मतलब है कि किसी भी व्यक्ति का प्रतिरूप। हम मेटावार्स के अंदर अपने हिसाब से किसी भी प्रतिरूप को बना सकते हैं, और आप मेटावार्स के अंदर अपने हिसाब से अपने अवतार को दूसरे अवतार के साथ interact भी कर सकते हैं।

  • आसानी से अलग अलग Components के भीतर आ जा सकते हैं

आज का टाईम ऐसा है की बहुत सी जगह ऐसी है जहां Metaverse के components का यूज किया जा रहा है। लेकिन अभी भी ऐसी जगह की कमी है जो की हमें आपने उसी अवतार में  हर जगह आने-जाने में सुविधा दे सके।

  • आकस्मिक उपयोगकर्ता व्यवहार (Casual User Behavior)

आज के समय में हमारे इंटरनेट पर हमें बहुत सारे गेम देखने को मिल जाते हैं या फिर अन्य वेबसाइट या प्लेटफार्म देखने को मिल जाते हैं। लेकिन इन पर हम जब भी गेम या फिर कुछ काम करते हैं तो उसे बीच में बंद करके किसी अन्य एप्लीकेशन को या फिर कुछ और काम करने लग जाते हैं, तो हमें उस गेम को या उस App को दोबारा से स्टार्ट करना पड़ता है।

लेकिन Metaverse के अंदर हमें ऐसा नहीं देखने को मिलता Metaverse के अंदर हम वर्चुअल दुनिया के अंदर अगर कोई काम कर रहे हैं और उसे बीच में छोड़कर हम अन्य काम करने लग जाते हैं, तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है हम थोड़ी देर बाद उसको दोबारा से कंटिन्यू कर सकते हैं। और उस काम को हम वहीं से कंटिन्यू करेंगे जहां से हमें हमने उसको छोड़ा था।

  • बेहतर User Experience

बेहतर यूजर एक्सपीरियंस देने के लिए मेटावर्स पर बहुत मेहनत कर रहें है। जिस कारण से कि जो भी मेटावर्स को यूज करे तो उसे एक अच्छा एक्सपीरियंस मिले मेटावर्स पर इतनी ज्यादा टेक्नोलॉजी का यूज किया जा रहा है कि हम व्यक्ति का सेम प्रतिरूप तैयार कर सके और वह देखने में बिल्कुल रियल लगे। जिस कारण से कि कोई भी उसे यूज करें तो उसे ऐसा लगे कि व्यक्ति उसके पास ही है, और इस कारण से जो भी  मेटावर्स को यूज करेगा उसका एक अच्छा अनुभव रहेगा।

  • इंटरोऑपरेबिलिटी

मेटावर्स एक ऐसी दुनिया होगी जहां पर हम हमारे कांटेक्ट और डेटा को कहीं पर भी ले जा सकते हैं, जैसे कि अगर आपने कोई सामान खरीदा है, तो आप मेटावर्स के अंदर उसे कहीं पर भी लेकर जा सकते हैं।

Metaverse के कुछ उदाहरण

आपने अब तक मेटावर्स के बारे में तो बहुत कुछ जान लिया और आपने अब तक मेटावर्स के बारे में यहीं पड़ा है कि मेटावर्स आने वाले समय में आएगा। लेकिन आपने बहुत सी जगह मेटावर्स को देखा भी होगा तो चलिए देखते हैं, किन-किन जगह पर आपने मेटावर्स को देखा है।  

  • Ready Player One

दोस्तों यह एक किताब का नाम है जो कि एक साइंटिस्ट द्वारा लिखी गई थी, और इस किताब के अंदर सबसे पहले मेटावर्स का यूज हुआ था। उन्होंने वर्चुअल दुनिया के बारे में कल्पना की थी लेकिन अब के साइंटिस्ट इस चीज को रियल लाइफ में लाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं, और आने वाले समय में मेटावर्स को लांच किया जाएगा।

  • Fortnite

Fortnite के भीतर कुछ वर्षों पहले वर्चुअल खेल कराए गए थे, जिन्हें हम मेटावर्स के रूप में ही देखते हैं। मेटावर्स में क्या होता है कि सभी चीजें एक वर्चुअल जिंदगी की तरह होती है, तो Fortnite में भी इन खेलों को वर्चुअल गेमों की तरह खेला गया था।

  • Facebook’s Horizon

Facebook’s Horizon के अंदर कुछ ऐसे गेम है और वीडियो है जिन्हें हम वीआर (VR) की मदद से देख सकते हैं, और इन्हें देखने पर हमें बिल्कुल मेटावर्स जैसा एहसास होता है, कि यह बिल्कुल रियल में हो रही है क्योंकि वीआर के अंदर हमें 3D एनीमेशन  देखने को मिलते हैं।

मेटावर्स हमारे जीवन में कब तक प्रवेश करेगा?

अगर आपके मन में दोस्तों एक सवाल उठ रहा है कि आखिरकार मेटावर्स को कब तक हमारे जीवन में लांच कर दिया जाएगा। तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि मेटावर्स का अभी तक कोई भी फिक्स टाइम नहीं दिया गया है। कि इस टाइम पर मेटावर्स को लांच किया जाएगा, क्योंकि इस पर अभी काम चल रहा है यह प्रोजेक्ट अभी तक पूरा कंप्लीट नहीं हुआ है। इस कारण से इसमें थोड़ा टाइम लगेगा और आने वाले समय में मेटावर्स को लांच जरूर किया जाएगा।

मेटावर्स पर कौन सी कंपनियां काम कर रही है?

दोस्तों अगर बात करें कि मेटावर्स पर कौन सी कंपनी काम कर रही है, तो मेटावर्स पर एक पार्टिकुलर कंपनी काम नहीं कर रही है। इस पर बहुत सारी कंपनियां एक साथ मिलकर काम कर रही है क्योंकि इसके अंदर सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और कई सारे फीचर्स होने के कारण इस पर अलग-अलग कंपनियां काम कर रही है।

अगर दोस्तों मेटावर्स पर देखा जाए तो कुछ मुख्य कंपनियां बहुत  सालों से काम कर रही है जैसे कि फेसबुक, एप्पल, स्नैपचैट, एपीके गेम्स जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियां इस पर कई सालों से काम कर रही है।

Epic Games Metaverse project क्या है?

Epic का मतलब तो आपको पता ही होगा कि यह एक मशहूर वीडियो गेम कंपनी है। इस कंपनी ने मेटावर्स के प्रोजेक्ट को देखते हुए उसके अंदर एक बिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया है। इसका मतलब है कि आने वाले समय में जब भी मेटावर्स आएगा तो उसके अंदर हमें कुछ ऐसे गेम देखने को मिलेगी जिन्हें हमें रियल लाइफ मैं खेल सकते हैं और उनके अंदर जो भी गतिविधि होगी उन्हें हमें हमारी रियल लाइफ के अंदर महसूस कर पाएंगे।इस कारण से यह गेम एक प्रकार से बहुत ही बढ़िया गेम होने वाले हैं।

आने वाले समय में मेटावर्स कंपनी के अंदर बहुत ही ज्यादा बढ़िया और अच्छे-अच्छे गेम आने वाले हैं। जिन्हें आपने कभी भी सोचा नहीं होगा ऐसे गेम आपको आने वाले समय में मेटावर्स के अंदर देखने को मिलेंगे।

Metaverse Decentraland क्या है ?

अगर आप पूछे की मेटावर्स का सबसे बढ़िया उदाहरण क्या है, तो मेटावर्स का सबसे बढ़िया उदाहरण Decentraland है, क्योंकि यह एक 3D virtual reality platform है और यह 2020 में लॉन्च हुआ था। इसके अंदर आप जमीन खरीद सकते हैं और उसे बेच भी सकते हैं।

यहां पर जमीन खरीदने के लिए हमें क्रिप्टो कॉइन की जरूरत पड़ती जिन्हे मैंने आपको नीचे एक लिस्ट बनाकर क्रिप्टो कॉइन के बारे में बता दिया हैं, कि मीटेवर्स के अंदर कौन सी क्रिप्टोकरंसी होगी, इनकी मदद से आप मीटेवर्स के अंदर और भी बहुत कुछ सामान खरीद सकते हैं।

Metaverse crypto coins list

जिस प्रकार हमें किसी भी सामान को खरीदते हैं या फिर हमारी जिंदगी में ज्यादातर काम हम पैसे की मदद से ही करते हैं। तो जब भी मेटावर्स आएगा तो उसके अंदर हमें फ्री में कुछ नहीं मिलेगा। उसके अंदर भी हमें पैसों की जरूरत पड़ेगी और उसके अंदर जो पैसा यूज होगा उसे हम क्रिप्टोकरंसी के नाम से जानते हैं। तो इसके अंदर जिन-जिन क्रिप्टो कोइंस का यूज होगा उनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार है।

Coin


Axie Infinity AXS


Decentraland MANA


The Sandbox SAND


Enjin Coin ENJ


StarLink STARL


Yield Guild Games YGG


UFO Gaming UFO


Vulcan Forged PYR


Star Atlas ATLAS


RMRK RMRK


Merit Circle MC


Wilder World WILD


Boson Protocol BOSON


My Neighbor Alice ALICE


RedFOX Labs RFOX


Somnium Space CUBEs CUBE


Ethernity Chain ERN


Star Atlas DAO POLIS


Aurory AURY


Decentral Games DG


Aavegotchi GHST


BOSAGORA BOA


vEmpire DDAO VEMP


Neos Credits NCR


Ovr OVR


REVV REVV


Binamon BMON


BlackPool Token BPT


VFOX VFOX


Revomon REVO


Kalao KLO


MARS4 MARS4


Genesis Worlds GENESIS


Polkacity POLC


Arcona ARCONA


Realm REALM


QORPO IOI


Decentral Games ICE ICE


Monavale MONA


GridZone.io ZONE


Ethverse ETHV


Highstreet HIGH


SENSO SENSO


Netvrk NTVRK


ShoeFy SHOE


Radio Caca (RACA)


फेसबुक ने अपना नाम Metaverse क्यों रखा?

फेसबुक कंपनी ने अपना नाम बदलकर मेटावर्स इसलिए रख दिया है, क्योंकि फेसबुक का मानना है कि आने वाला समय मेटावर्स यानी वर्चुअल दुनिया का होने वाला है। जोकि लोगों को एक दूसरे से जोड़ेगी और फेसबुक भी एक सोशल मीडिया का ऐसा प्लेटफॉर्म है जो कि लोगों को एक दूसरे से जोड़ने का काम करता है यानी कि लोगों के बीच की दूरी को कम करने का काम करता है।

इस कारण से फेसबुक कंपनी ने अपना नाम बदल कर फेसबुक की जगह मेटावर्स या फिर कहे तो मेटा रख लिया है, और आज के टाइम में लगभग सभी लोगों को इसके बारे में पता है।

Metaverse से जुड़े FAQS:-

Q. फेसबुक ने अपनी कंपनी का नया नाम क्या रखा?

A. फेसबुक ने अपनी कंपनी का नया नाम Meta रखा है।

Q. फेसबुक ने अपनी कंपनी का नया नाम Meta क्यों रखा?

A. क्योंकि फेसबुक कंपनी का मानना है की जिस प्रकार मेटावर्स आने वाले समय में लोगों को वर्चुअल तरीके से जोड़ेगा उसी प्रकार फेसबुक लोगों को एक दूसरे से जोड़ने का काम करती है, इस लिए फेसबुक ने अपना नाम मेटा रख लिया है।

Q. क्या Metaverse Safe होने वाला है?

A. Metaverse पूरी तरह से सेफ नहीं है, क्योंकि इसके अंदर कंपनी द्वारा हमारी सभी हरकतो पर नजर रखी जाएगी, जिससे कि हमारी हर बात पर उनकी नजर होने के कारण कोई भी प्राइवेट बात उन तक बड़ी ही आसानी से पहुंच जाएगी।

Q. मेटावर्स शब्द किस नोवेल से लिया गया है?

A. मेटावर्स शब्द ‘स्नो क्रैश नॉवेल’ से लिया गया है।

Q. क्या मेटावर्स के माध्यम से हम गेट टूगेदर कर सकेंगे?

A. जी हां दोस्तों आप इसके अंदर गेट टुगेदर कर सकते हैं, क्योंकि इसके अंदर हमें दूर रहते हुए भी पास होने का एहसास होता है।

Q. क्या मेटावर्स में हम अपना खुद का अवतार बना पाएंगे?

A. जी हां दोस्तों मेटावर्स में हम अपना अवतार बना पाएंगे।

Q. क्या मेटावर्स में हम प्लाट खरीद सकते हैं?

A. जी हां दोस्तों मेटावर्स के अंदर आप प्लाट भी खरीद सकते हैं, और प्लाट को बेच सकते हैं, इसके लिए आपको क्रिप्टो कॉइन की जरूरत पड़ेगी।

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हमने देखा कि “Metaverse Kya Hai” और हमें मेटावर्स के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं, और क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं, और मेटावर्स के ऊपर इस आर्टिकल के अंदर बिल्कुल डिटेल से चर्चा की गई है। ताकि आपको मेटावर्स की पूरी जानकारी हो जाए और अगर आपको यह जानकारी कहीं पर यूज करनी पड़े तो आपको कोई दिक्कत ना आए।

अगर आपको ऊपर दी हुई जानकारी में कोई दिक्कत आ रही है, तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में एक कमेंट कर दें, हम आपके सवाल का जवाब आपको जल्दी से जल्दी देने का प्रयास करेंगे। इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि यह जानकारी अन्य लोगों तक भी पहुंच सके और उनको भी इसका फायदा हो सके।

आगे भी हम ऐसी जानकारी शेयर करते रहेंगे. लेटेस्ट अपडेट के लिए आप मुझे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं.

स्वस्थ रहें, खुश रहें!!!

ये भी पढ़ें:-

Nargis Praveen

Mai ek Blogger hu! Logo ki online help karne ke liye maine ye blog banaya hai. Jisse mai apna experience aur knowledge logo ke sath share kar saku aur aap bhi kuch naya seekh paaye.

Leave a Comment

Share via
Copy link