Duniya Ke Saat Ajoobe Kaun Kaun Se Hain फोटो सहित | 7 Wonders of The World

Duniya Ke Saat Ajoobe – आज के समय में ज्यादातर लोगों के मन में दुनिया के सात अजूबों की जानकारी लेने की इच्छा रहती है और इसी बारे में वह गूगल पर सर्च करते हैं दुनिया के सात अजूबों कौनसे हैं। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि इन सात अजूबों की पूरी जानकारी नहीं मिल पाती और अधूरी ही जानकारी आपको देखने को मिलती है। लेकिन आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए दुनिया के सात अजूबों की पूरी जानकारी देंगे।

आज के इस आर्टिकल में हम दुनिया के सात अजूबों के पूरे इतिहास के बारे में जानेंगे जिससे कि आपको दुनिया के सात अजूबों की पूरी जानकारी मिल सके। आपको दुनिया के सात अजूबों के बारे में कुछ अन्य जानकारी भी हम इस आर्टिकल के अंदर देंगे, अगर आपको दुनिया के सात अजूबों की पूरी जानकारी चाहिए तो आपको आज का हमारा यह आर्टिकल पूरा लास्ट तक पढ़ना होगा। जिसके जरिए कि आपको इन अजूबों की पूरी जानकारी मिल सके तो चलिए आपका ज्यादा समय न लेते हुए बढ़ते हैं आज के हमारे इस आर्टिकल की तरफ।

दुनिया के सात अजूबे । 7 Wonders of the World in Hindi

Duniya ke saat ajoobe
  • Save
Duniya ke saat ajoobe

अगर आप लोगों ने कभी सात अजूबों के बारे में सुना है तो आप लोगों को तो पता ही होगा की दुनिया के सात अजूबे कितने सुंदर हैं। और पहले के जो सात अजूबे थे उन की कुछ इमारतें टूट जाने और खराब होने के कारण उन की जगह पर जनता से वोट करा कर नए सात अजूबे बना दिए गए थे।

आज हम आप को इस आर्टिकल की मदद से सात अजूबों के बारे में पूरी जानकारी देंगे। दुनिया के सात अजूबों को प्राचीन समय से चुनते आ रहे हैं।

दुनिया के सात अजूबो के नाम

तो चलिए अब हम देख लेते हैं कि दुनिया के सात अजूबे कौन-कौन से हैं। पहले हम दुनिया के सात अजूबों के नाम देख लेते हैं और उसके बाद नीचे हम इन सभी अजूबों के पुरे इतिहास के बारे में भी चर्चा करेंगे।

  1. चीन की दीवार
  2. ताज महल
  3. पेट्रा
  4. क्राइस्ट रिडीमर
  5. माचू पिच्चू
  6. कोलोज़ीयम
  7. चिचेन इत्ज़ा

दुनिया के सात अजूबो को कैसे चुना गया था?

दुनिया के सात अजूबों को जानने से पहले आपके मन में एक सवाल जरूर आया होगा कि आखिर दुनिया के सात अजूबों को किस प्रकार से चुना गया। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि दुनिया के सात अजूबों को किस प्रकार से चुना गया।

दुनिया के सात अजूबों की पूरी जानकारी देने से पहले आपको इस बात का पता होना चाहिए कि दुनिया के सात अजूबों को बनाने का निर्णय किसने लिया था। तो दोस्तों दुनिया के सात अजूबे बनाने का निर्णय हेरोडोटस और कल्लिमचुस ने लिया था।

सबसे पहले सात अजूबों को चुनने की पहल सन् 1999 में की गई थी। सन 2000 में इन सात अजूबों को बदलने का निर्णय लिया गया था। और ऐसा निर्णय इसलिए लिया गया था क्योंकि उस समय के अजूबे यानी कि उनमें से कुछ इमारतें नष्ट हो चुकी थी, इसलिए उन्हें चेंज करने का निर्णय लिया गया था।

पूरे विश्व में से 200 ऐसी इमारतों का चयन कर के एक लिस्ट बनाई गई जो कि सबसे पुरानी और सुंदर थी। और इन 200 इमारतों की लिस्ट में से सात अजूबों का चयन करने के लिए वोटिंग कराई गई जिसमे से 10 करोड़ लोगों ने वोट डाले थे, और उसके बाद 7 जुलाई 2007 में उन सात अजूबों को घोषित किया गया था।

दुनिया के सात अजूबे फोटो सहित

दोस्तों ऊपर का आर्टिकल पढ़कर आपको दुनिया के सात अजूबों के बारे में कुछ जानकारी तो मिल गई होगी। लेकिन चलिए अब हम दुनिया के सात अजूबों पर विस्तार से जानकारी हासिल कर लेते हैं। और आपको दुनिया के सात अजूबों में से हर एक अजूबे का इतिहास बताने की कोशिश करते हैं। ताकि आपको दुनिया के हर एक अजूबे के बारे में पूरी जानकारी मिले। 

चीन की दीवार (Great Wall of China)

चीन की दीवार को उस समय में राजाओं ने अपने राज्यों की रक्षा के लिए बनवाया था। जो कि एक बहुत ही लंबी दीवार है। आज के समय में चीन की दीवार के बारे में तो हर एक व्यक्ति जानता है कि चीन की दीवार दुनिया की सबसे लंबी दीवार है। इस दीवार को सबसे बड़ी और विशाल दीवार इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह दीवार अंतरिक्ष से भी बिल्कुल साफ दिखाई देती है तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कितनी विशाल होगी।

चीन की दीवार | Great Wall of China
  • Save
  • यह दीवार इतनी बड़ी और मजबूत होने के कारण है इस दीवार को ग्रेट वॉल ऑफ चाइना भी कहा जाता है।
  • चीन की दीवार का निर्माण पांचवी शताब्दी से लेकर 16 वीं शताब्दी के मध्य में हुआ था।
  • चीन की दीवार की कुल लंबाई 6400 किलोमीटर है और इसकी ऊंचाई 35 फीट हैं।
  • चीन की दीवार को 1949 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोवर घोषित कर दिया गया।
  • इस दीवार को कई अलग-अलग शासकों द्वारा मिलकर बनाया गया था।

ताज महल (Taj Mahal)

आप सब तो जानते है की ताजमहल अपनी सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। आज के समय में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसको ताजमहल के बारे में नहीं पता क्योंकि ताजमहल बहुत ही सुंदर और एक अच्छी कलाकारी का नमूना है। ताजमहल बनाने वाले कारीगरों के हाथ इसी कारण से कटवा दिए गए थे ताकि आगे आने वाले समय में इससे सुंदर महल कोई और ना बना पाए।

ताज महल | Taj Mahal
  • Save
  • ताजमहल भारत के आगरा शहर में स्थित है
  • ताजमहल का निर्माण 1632 से 1653 ईसवी के मध्य में हुआ था।
  • ताजमहल की ऊंचाई 73 मीटर है।
  • ताजमहल को मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया था।
  • ताजमहल को 1963 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया गया था।

पेट्रा (Petra)

पेट्रा नगरी अपनी पत्थर से तराशे गई इमारतों के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर पत्थर को काटकर इमारतों को बनाया गया है जो कि देखने में बहुत ही ज्यादा सुंदर है। और इन पत्थरों पर बहुत ही अच्छी कलाकारी की गई है जिस कारण से इसे विश्व धरोहर में शामिल किया गया है।

पेट्रा  | Petra
  • Save
  • पेट्रा का निर्माण 1200 ईसा पूर्व में हुआ था।
  • पेट्रा होर की पर्वत डाल पर स्थित है, पेट्रा के चारों तरफ से ऊंची पर्वत श्रृंखला हैं।
  • पेट्रा को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की सूची में भी शामिल किया गया है।

क्राइस्ट रिडीमर (Christ the Redeemer)

क्राइस्ट रिडीमर ब्राजील के रियो डि जेनेरो शहर में स्थित है। यह दुनिया की येशु मसीहा की एकमात्र इतनी बड़ी प्रतिमा है। इस कारण से इसे विश्व के लोकप्रिय धरोहर की सूची में शामिल किया गया है। इस प्रतिमा को कंक्रीट और सोपस्टोन की मदद से बनाया गया है। जिस कारण से यह प्रतिमा बहुत ही मजबूत है जिससे कि यह खराब भी नहीं होगी।

क्राइस्ट रिडीमर | Christ the Redeemer
  • Save
  • इस प्रतिमा की चौड़ाई 30 मीटर है, और ऊंचाई लगभग 130 फीट है। 
  • अगर हम इस प्रतिमा के वजन की बात करें तो इस प्रतिमा का वजन 665 टन है।
  • इस प्रतिमा का निर्माण कार्य 1922 में शुरू हुआ और इस प्रतिमा को 12 अक्टूबर 1931 को स्थापित किया गया।
  • यह प्रतिमा ईशा धर्म की सबसे बड़ी प्रतिमा है जो की इस धर्म का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता है।

माचू पिच्चू (Machu Picchu)

Machu Picchu एक ऐतिहासिक स्थल है, माचू पिच्चू दक्षिण अमेरिका के पेरू में स्थित है। और जब स्पेन के लोगों ने गांवों पर जीत हासिल कर ली तो उसके बाद है इस शहर को ऐसे ही छोड़ दिया गया जिस कारण से यह बिल्कुल खाली हो गया। और यहां पर स्थित इमारतें भी खराब होने लगी लेकिन अब भी यहां की इमारतें सही सलामत है क्योंकि अब इनकी मरम्मत कर दी गई है।

माचू पिच्चू | Machu Picchu
  • Save
  • माचू पिचू की ऊंचाई 2430 मीटर है।
  • माचू पिच्चू कुज़्को क्षेत्र से लगभग 80 किलोमीटर दूर है।
  • हीरम बिंघम द्वारा माचू पिचू शहर को विश्व धरोहर का दर्जा दिलाया गया।
  • 1983 को माचू पिचू शहर को विश्व धरोहर लिस्ट में शामिल कर लिया गया।

कोलोज़ीयम (Colosseum)

यह एक बहुत बड़ा खेल का मैदान है, या फिर कहा जाए तो यह एक बहुत बड़ा स्टेडियम है। यह इटली देश के रोम शहर में स्थित है। यह स्टेडियम इतना बड़ा है की इसमें एक साथ 5 हजार लोग बैठ सकतें हैं।

कोलोज़ीयम | Colosseum
  • Save
  • कोलोज़ीयम का निर्माण कार्य 70 ईसा पूर्व से 72 ईसा पूर्व में शुरू हुआ और 80 ईसा पूर्व तक यह पूरा बन कर तैयार हो गया।
  •  इस स्टेडियम का आकार अंडाकार है।
  •  इसके अंदर खूनी खेलो को खेला जाता था।
  • इस स्टेडियम के अंदर कुछ सांस्कृतिक कार्य भी कराए जाते थे।

चिचेन इत्ज़ा (Chichén Itzá)

यह एक प्राचीन मंदिर था, यह मंदिर मेक्सिको में स्थित था। चिचेन इत्ज़ा शब्द स्पेनी शब्द है। चिचेन इत्ज़ा मैक्सिको की सबसे प्राचीन जगहों में से एक है। यहां का माया मंदिर लगभग 5 किलोमीटर के दायरे में फेला हुआ है।

चिचेन इत्ज़ा | Chichén Itzá
  • Save
  • चिचेन इत्ज़ा का निर्माण 600 ईसा पूर्व में किया गया था।
  • इस मंदिर का आकार पिरामिड की तरह था।
  • इस मंदिर के ऊपर चढ़ने की सीढ़ी चारो तरफ थी।
  • चिचेन इत्ज़ा मंदिर में कुल 365 सीढ़िया थी।
दुनिया के साथ अजूबो से जुड़े FAQS

Q. पूरी दुनिया में कितने अजूबे हैं?

A. पूरी दुनिया में कुल 7 अजूबे हैं जिनके नाम हैं:-
1. चीन की दीवार
2. ताज महल
3. पेट्रा
4. क्राइस्ट रिडीमर
5. माचू पिच्चू
6. कोलोज़ीयम
7. चिचेन इत्ज़ा

दुनिया का पहला अजूबा कौन सा है?

दुनिया का पहला अजूबा ताज महल है। जिसे राजा शाहजहां ने अपनी बीवी मुमताज की याद में बनवाया था। ताज महल को उसकी खूबसूरती के लिए 7 अजूबों में जोड़ा गया था।

निष्कर्ष

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको दुनिया के सात अजूबे कौनसे हैं इस बारे में बताया है। उम्मीद करते हैं आपको Duniya ke saat ajoobe kaun kaun se hain इस बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हुई होगी। पोस्ट से जुड़ा आपका कोई भी सवाल है या फिर आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट में जरुर बताएं।

पोस्ट पसंद आयी तो सोशल मीडिया पर दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें, ताकि वह भी दुनिया के साथ अजूबो के बारे में जान जान सकें। लेटेस्ट अपडेट के लिए ब्लॉग के Notifications ON करना न भूलें।

आगे भी हम ऐसी जानकारी शेयर करते रहेंगे, लेटेस्ट अपडेट के लिए आप मुझे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

स्वस्थ रहें, खुश रहें!!!

भी पढ़ें:-

Nargis Praveen

Mai ek Blogger hu! Logo ki online help karne ke liye maine ye blog banaya hai. Jisse mai apna experience aur knowledge logo ke sath share kar saku aur aap bhi kuch naya seekh paaye.

Leave a Comment

Share via
Copy link