IAS Officer Kaise Bane | 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

IAS एक ऐसी सर्विस है जिसे राष्ट्र का हर एक युवा वर्ग करने के लिए अपनी जी जान लगा देता है। IAS बनने के लिए युवाओं में इसका काफी ज्यादा क्रेज देखा जाता है, और इसके साथ ही में युवा वर्ग Pilot Kaise Bane के संबंधित जानकारी को भी इंटरनेट पर सर्च करते रहते हैं. आज के इस लेख में हम आप सभी लोगों को IAS officer kaise bane, आईएएस कैसे बनेंगे से संबंधित जानकारी प्रदान करने वाले हैं और आज का हमारा यह महत्वपूर्ण लेख आपके लिए बहुत ही ज्यादा सहायक भी सिद्ध होगा।

आईएएस क्या है?

IAS officer kaise bane
  • Save

हमारे भारत देश में आईएएस की पोस्ट सबसे बड़ी और सम्माननीय पोस्ट मानी जाती है। वैसे तो आपने जिला कलेक्टर या फिर यूं कहें कि एसडीएम का नाम तो सुना ही होगा, जिन्हें आईएएस ऑफिसर के नाम से भी जानते हैं। मंत्री पद के बाद अगर कोई सबसे बड़ा पद हमारे देश में किसी को प्राप्त होता है, तो वह आईएएस ऑफिसर को प्राप्त होता है।

आईएएस ऑफिसर हमारे संसद में बनाए गए कानूनों को अपने एरिया में लागू करने और यहां तक कि नए कानून व्यवस्था को बनाने में भी सरकार का पूरा सहयोग करते हैं। आईएएस ऑफिसर के अंतर्गत बहुत सारे अधिकारी आते हैं और उन सभी अधिकारियों को उनका कार्यभार और उन्हें मैनेज करने का काम भी आईएएस ऑफिसर का होता है। अपने क्षेत्र में चैनसुख और अपराध मुक्त पर्यावरण को बनाने के लिए आईएएस ऑफिसर मुख्य रूप से जिम्मेदार होता है। 

IAS फुल फॉर्म  (IAS Full Form in Hindi)

IAS की फुल फॉर्म Indian Administrative Service होती हैं जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं। यह देश की सबसे बड़ी सेवा होती हैं। 

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए योग्यता की जानकारी? (आईएएस योग्यता)

IAS बनने के लिए देश का हर युवा आवेदन कर सकता हैं परन्तु इसके लिए कुछ योग्यताये होती हैं जो हर आवेदक को जानना जरुरी हैं। IAS बनने के लिए कुछ निम्न योग्यताये होती हैं। 

  • आवेदक देश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • जो प्रार्थी इस सेवा के लिए आवेदन करना चाहता हैं उसकी आयु 21 से 32 साल के बीच होनी चाहिए। 
  • आवेदक जो इस सेवा में आना चाहता हैं वो किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक किया हुआ होना चाहिए।
  • इस योजना में आवेदन करने वाले सभी अभियार्थियो को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा को पास करना जरुरी हैं। 

आईएएस ऑफिसर के कार्यभार? (IAS के कार्य)

एक आईएएस अफसर किसी भी देश के साथ संधि होने पर वह अपने देश का प्रतिनिधित्व करता है और सरकार के साथ मिलकर उस संधि पर अथॉरिटी और ऑथराइजेशन प्रदान करता है। इसके अतिरिक्त भी कई सारे एक आईएएस ऑफिसर के कार्य होते हैं, जिनके बारे में इस प्रकार के नीचे निम्नलिखित जानकारी दी गई है।

  • एक आईएएस ऑफिसर को राजस्व से संबंधित सभी प्रकार के कार्य करने होते हैं, जिसमें राजस्व का संग्रहण करना होता है।
  • आईएएस ऑफिसर अपने कार्यक्षेत्र में आने वाले सभी एरिया को कानूनी रूप से और लोगों के हित के लिए आवश्यक व्यवस्था को बरकरार रखता है।
  •  किसी भी प्रकार के दंगे या फिर अन्य सामाजिक दुर्घटना होने पर आईएएस ऑफिसर को तुरंत सबसे पहले एक्शन लेना होता है।
  •  आईएएस ऑफिसर अपने एरिया में मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य करता है।
  • आईएएस ऑफिसर को जिला विकास आयुक्त से संबंधित सभी प्रकार के कार्य को करना होता है।
  • अपने जिले में आईएएस ऑफिसर राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार की सभी नीतियों को लागू करने का कार्य करता है।
  • आवश्यक नीतियों और कानून व्यवस्था को अपने जिले में बरकरार रखने के लिए उसे निरीक्षण यात्रा भी करनी पड़ती है।
  • अगर सरकार किसी भी प्रकार की नीतियां बना रही है, तो उसमें एक आईएएस ऑफिसर संयुक्त सचिव एवं उप सचिव के रूप में परामर्श देता है और साथ ही में उस नीति को अंतिम आकार देने का कार्य भी एक आईएएस ऑफिसर ही पूरा करता है।
  • केंद्र एवं राज्य सरकार के दैनिक मामलों को संभालने का पूरा उत्तरदायित्व एक आईएएस ऑफिसर के कंधे पर होता है। 

आईएएस ऑफिसर कैसे बनते हैं? (IAS Kaise Bane in Hindi)

सिविल सेवा परीक्षा में हर साल संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित करवाई जाती हैं। इस परीक्षा का आयोजन हर साल होता हैं। इस परीक्षा को पास करने वाले सभी अभियार्थी IAS, IPS, IRS, IFS इतियादी सेवाओ में जाते हैं। यह एक परीक्षा आयोजित होती और इस परीक्षा में कई अलग – अलग सेवाओ में जाने वाले अभियार्थी बैठते हैं। 

IAS Exam Pattern        

देश की सबसे बड़ी परीक्षा का एग्जाम पैटर्न जितने साधारण हम सोचते हैं उतना साधारण नही हैं और उतना मुश्किल भी नही हैं जितना हम समझते हैं। आईएएस की परीक्षा में बैठने वाले अभियार्थियो को तीन चरणों से गुजरना होता हैं। वे तीन चरण निम्न हैं। ।

  • प्रिलिमनरी एग्जाम
  • मेन एग्जाम 
  • इंटरव्यू

प्रिलिमनरी एग्जाम : प्रारंभिक परीक्षा, यह आईएएस परीक्षा का पहला चरण होता हैं। इस परीक्षा के लिए भी अभियार्थी आवेदन करते हैं वे सभी अभियार्थी इस परीक्षा में बैठते हैं। इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं जिसमे एक मुख्य पेपर और एक क्वालीफाई पेपर। इस ऑब्जेक्टिव परीक्षा में पास होने वाले अभियार्थी मुख्य परीक्षा के लिए जाते हैं। 

मेन एग्जाम : प्रारंभिक परीक्षा के बाद जो भी  उम्मीदवार इस परीक्षा में पास होते हैं वो मुख्य परीक्षा के लिए योग्य होते हैं और वे इस परीक्षा में बैठते हैं। यह परीक्षा लिखित होती हैं जिसमे 9 पेपर होते हैं। इस परीक्षा में पास होने वाले  उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता हैं। 

इंटरव्यू: मुख्य परीक्षा में पास होने वाले सभी  उम्मीदवार  इंटरव्यू के लिए आते हैं।  इंटरव्यू में कुल पोस्ट की दोगुना अभियार्थी आते हैं। इसकी कोई परीक्षा नही होती हैं बल्कि यह एक प्रकार का टेस्ट होता हैं जिसमे केवल दस्तावेजो की जांच होती हैं। उम्मीदवारों का मानसिक टेस्ट होता हैं। इस परीक्षा में पास होने वाले  उम्मीदवारों का फाइनल रिजल्ट बनता हैं। 

मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू दोनों के नंबर मिला कर एक फाइनल मेरिट बनती हैं, और उसके बाद  उम्मीदवार की रैंक के अनुसार उनको पोस्ट मिलती हैं। 

IAS Attempt 

देश में होने वाली आईएएस की परीक्षा के लिए एक  उम्मीदवार कितनी बार फॉर्म भर सकते हैं वो भी निस्चित हैं। इन सब की जानकारी के बारे में भी जानना जरुरी हैं। श्रेणी के अनुसार कौन से  उम्मीदवार कितना बार फॉर्म भर सकता हैं। 

श्रेणीAttempt Limit
सामान्य श्रेणी6
ई।डब्लू।एस6
अन्य पिछड़ा वर्ग9
एससी / एसटीUnlimited upto age limit 
रक्षा सेवा कार्मिक9
बेंचमार्क विकलांगता वाले व्यक्ति9

IAS में मिलने वाली पोस्ट

आईएएस की परीक्षा पास करने के बाद और आईएएस बनने के बाद अभियार्थियो को कौनसी पोस्ट मिलती हैं और एक आईएएस ऑफिसर को कौनसी पोस्ट पर काम करना होता हैं। इन सब की जानकारी भी आपको होनी चाहिए।

  • उपखंड अधिकारी  – आईएएस बनने के बाद यह सबसे पहली पोस्ट होती हैं जो एक आईएएस ऑफिसर को मिलती हैं।
  • अतिरिक्त जिला कलेक्टर – उपखंड अधिकारी बनने के बाद आईएएस का प्रमोशन होता हैं, और उसे अतिरिक्त जिला अधिकारी बनाया जाता हैं।
  • जिला कलेक्टर – आईएएस बनने के बाद एक अभियार्थी का पहला सपना होता हैं कलेक्टर बनने का,  और आईएएस ऑफिसर अपनी पोस्टिंग के 2 साल में उसे कलेक्टर बनाया जाता हैं।
  • संभागीय आयुक्त – जिला कलेक्टर बनने के बाद और लगभग 5 से 8 साल बाद कलेक्टर को प्रमोशन देकर संभागीय आयुक्त बनाया जाता हैं।
  • सचिव – एक कलेक्टर के प्रमोशन के बाद उसको सचिव बनाया जाता हैं, यह सचिव राज्य सरकार और केंद्र सरकार के अधीन बनाया जाता हैं।

इस सब के आलावा भी और कई पोस्ट होती हैं जिस पर उसको प्रमोशन दिया जाता हैं। देश और राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी भी एक आईएएस ऑफिसर ही होता हैं। 

आईएएस ऑफिसर को दी जाने वाली ट्रेनिंग की जानकारी? (IAS Training)

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए सभी स्टेप को क्लियर करने के बाद  सिलेक्टेड उम्मीदवारों को ट्रेनिंग के लिए मंसूरी में स्थित लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकादमी फॉर एडमिनिस्ट्रेशन के ट्रेनिंग सेंटर में बुलाया जाता है और फिर वहां पर उन्हें ट्रेनिंग देने का कार्य किया जाता है। आईएएस की ट्रेनिंग में उम्मीदवारों को आईएएस ऑफिसर के सभी कार्य भाग और उनके कार्य करने का तरीका और भी विषम परिस्थिति में किस प्रकार से कार्य किया जाता है और कैसे एक जनहित के लिए और राष्ट्रहित के लिए निर्णय लिया जाता है, इन सभी विषयों पर एक कड़ी ट्रेनिंग दी जाती है। एक आईएएस ऑफिसर की ट्रेनिंग लगभग 2 वर्षों के समय काल की होती है और इस ट्रेनिंग सेशन को पूरा करने के बाद आईएएस ऑफिसर अपने कार्य फील्ड में ज्वाइन होने के लिए तैयार हो जाता है और उसे उसके कार्यों को समझाया एवं सौंप दिया जाता है।

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए अपना ऑनलाइन आवेदन कैसे करते हैं?

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया यूपीएससी कई बड़े पदों के लिए हर साल एग्जाम करवाती है और आप उस एग्जाम में अपना आवेदन करके आईएएस ऑफिसर की परीक्षाओं को दे सकते हैं। आप यूपीएससी के अधिकारी वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन कर सकते हैं और अगर आपको इससे संबंधित और भी जानकारी चाहिए तो आप यूपीएससी के आधिकारिक वेबसाइट पर इससे जुड़ी हुई सभी जानकारियों को भी प्राप्त कर सकते हैं।

IAS Officer की सैलरी

आईएएस ऑफिसर की सैलरी की बात करे तो एक आईएएस ऑफिसर की उनकी पोस्टिंग और उनकी ट्रेनिंग के दौरान अलग – अलग तनख्वाह दी जाती हैं। नये आईएएस ऑफिसर की सैलरी शुरुआत में सातवे वेतन आयोग के अनुसार 56 हजार के आसपास सैलरी मिलती हैं, और इसके अलावा उनको और भी कई सुविधाए मिलती हैं। सारी सुविधाए को जोड़ दे तो एक आईएएस ऑफिसर की सैलरी करीब 1 लाख से भी अधिक होती हैं।

निष्कर्ष

इस लेख में आपको आईएएस कैसे बने (IAS kaise bane full information in Hindi), आईएएस कैसे बनेंगे, IAS kaise bane 12th ke baad के बारे में बताया गया है। उम्मीद करते हैं इस लेख में बताई गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यह लेख अगर आपको अच्छा लगा हैं, तो हमे नीचे कमेंट कर के जरुर बतायें, और सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें।

अगर आप हमारी कम्युनिटी से जुड़ना चाहते हैं, तो हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें।

स्वस्थ रहें, खुश रहें!!!

ये भी पढ़ें:-

Nargis Praveen

Mai ek Blogger hu! Logo ki online help karne ke liye maine ye blog banaya hai. Jisse mai apna experience aur knowledge logo ke sath share kar saku aur aap bhi kuch naya seekh paaye.

Leave a Comment

Share via
Copy link