EC Full Form in Hindi | EC का फुल फॉर्म क्या होता है?

EC क्या है, EC full form क्या होता है? हाल फ़िलहाल में आपने ये शब्द किसी के मुंह से सुना होगा या आपको EC document की जरूरत पड़ी है तभी आप इस बारे में डिटेल में जानना चाहते हैं. 

इस पोस्ट में आपको EC के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त होगी, पोस्ट को पूरा पढ़ें जिससे आपको इसके बारे में डिटेल जानकारी मिल सके.

EC Ka Full Form क्या है – What is the Full Form of EC?

EC full form in Hindi
  • Save

EC का फुल फॉर्म “Encumbrance Certificate” होता है, जिसे हिंदी भाषा में “भार प्रमाणपत्र” के नाम से जाना जाता है. EC दस्तावेज़ की जरुरत प्रॉपर्टी खरीदते और बेचते वक़्त पड़ती है. अगर आप कोई प्रॉपर्टी गिरवी रखना चाहते हैं या फिर प्रॉपर्टी पर लोन लेना चाहते हैं तब भी EC बहुत जरुरी दस्तावेज़ है.

EC full form in English

Encumbrance Certificate

EC full form in Hindi

भार प्रमाणपत्र

EC क्या है और क्यों एक जरुरी डॉक्यूमेंट है?

मकान खरीदना, बेचना उस पर लोन या फिर गिरवी रख कर किसी भी तरह का कर्ज लेने के लिए EC (Encumbrance Certificate) की जरुरत पड़ती है. EC पर प्रॉपर्टी के बारे में सारी इनफार्मेशन mentioned होती है. जिससे प्रॉपर्टी के अतीत के बारे में सारी जानकारी प्राप्त की जा सकती है. 

प्रॉपर्टी किसके नाम है, प्रॉपर्टी को कितनी बार खरीदा, बेचा गया है, और प्रॉपर्टी पर किसी तरह का कोई कर्ज या फिर लोन तो नहीं चल रहा है.

ये सभी डिटेल्स इसलिए mentioned होती हैं जिससे प्रॉपर्टी को खरीदते, बेचते समय किसी भी तरह का कोई फ्रॉड ना किया जा सके.

EC (Encumbrance Certificate) क्यों Important है?

अगर आप प्रॉपर्टी लेने या फिर बेचने की सोच रहें हैं तो EC दस्तावेज बनवाना आपके लिए बहुत जरुरी है. भार प्रमाणपत्र की जरुरत कब पड़ती है और ये दस्तावेज क्यों आवश्यक है, जानने के लिए नीचे बताई गयी बातो को ध्यान से पढ़ें:-

  • EC पर प्रॉपर्टी के बारे में सारा विवरण दिया होता है. जिससे प्रॉपर्टी के अतीत के बारे में पता लगता है.
  • प्रॉपर्टी का मालिक कौन है, प्रॉपर्टी को कितनी बार खरीदा, बेचा गया है.
  • प्रॉपर्टी पर कितनी transactions हुई हैं.
  • प्रॉपर्टी कर्ज मुक्त है या नहीं.
  • बैंक से प्रॉपर्टी लोन लेते समय भी EC की जरूरत पड़ती है.
  • EC के द्वारा आप फ्रॉड से बच सकते हैं.

EC (भार प्रमाणपत्र) कैसे और कहाँ से बनवायें?

Encumbrance Certificate बनवाने के लिए आपको उस area के Sub-Registrar ऑफिस में जाना होगा जहाँ आपकी प्रॉपर्टी को Registred किया गया होगा. वहां आपको एक फॉर्म भरना होगा और उसके साथ जरुरी दस्तावेज लगाने होंगे. जैसे की Address proof, Aadhar card, Property details. 

फॉर्म जमा करते टाइम आपसे इसकी फीस भी ली जाएगी जो की ₹200 होगी, यह ज्यादा भी हो सकती है. Encumbrance Certificate Fees आपकी प्रॉपर्टी की locality और वर्षों की संख्या के आधार पर बढ़ती है जिसके लिए जानकारी मांगी जाती है. 

फॉर्म जमा करने के बाद 20-30 दिन का समय लगेगा, आपके फॉर्म को रिव्यु किया जायेगा और सभी जानकारी सही होने के बाद आपको आपका भार प्रमाणपत्र दे दिया जायेगा.

EC की अन्य फुल फॉर्म

EC full form in Engineering – Electronics and Communication

EC फुल फॉर्म in Train/Railway – Executive AC Chair Car

EC फुल फॉर्म in Photography – Exposure compensation

EC full form in Agriculture –  Electrical Conductivity

EC full form in Chemistry – Ethyl Carbonate

EC फुल फॉर्म in Computer – embedded controller

EC Council full form – E-Commerce Consultants

EC फुल फॉर्म in Instagram – Editing Credits 

EC फुल फॉर्म in Government – European Commission

निष्कर्ष 

दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने आपको EC full form in land (What is EC full form) के बारे में डिटेल में बताया है, आशा करती हूँ आपको पोस्ट पसंद आयी होगी.

अगर पोस्ट से जुड़ा आपका कोई भी सवाल है या आप कुछ पूछना चाहते है तो कमेंट करके जरुर बतायें. पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके अपना प्यार और support जरुर दें.

ऐसी जानकारी के लिए आप हमारा Facebook Page भी follow कर सकते हैं.

स्वस्थ रहें, खुश रहें!!!

ये भी पढ़ें:-

Nargis Praveen

Mai ek Blogger hu! Logo ki online help karne ke liye maine ye blog banaya hai. Jisse mai apna experience aur knowledge logo ke sath share kar saku aur aap bhi kuch naya seekh paaye.

Leave a Comment

Share via
Copy link